Uttar Pradesh: RIVER SYSTEMS, LAKES, IRRIGATION, GROUND WATER{Latest}

उत्तर प्रदेश : नदी तंत्र , झीलें , सिंचाई  , भूगर्भ जल

Uttar Pradesh : river systems, lakes, irrigation, ground water

किसी क्षेत्र के अफवाह तंत्र में वहां के धरातलीय संरचना, भूमि के ढाल, चट्टानों के स्वभाव ,जल की प्राप्ति ,आदि का विशेष प्रभाव होता है क्योंकि इस देश का उत्तरी पश्चिमी भाग  ऊंचा है और हिमालय पर पर्याप्त जल  स्रोत रहें अतः प्रदेश की अधिकांश नदियों का प्रवाह उत्तर पश्चिम से दक्षिण पूर्व की ओर है | Uttar Pradesh : river systems lakes irrigation ground water |

 प्रदेश के मैदानी भाग में समांतर अपवाह तंत्र पाया जाता है | उत्तम स्थानों के आधार पर देश की नदियों को तीन प्रकारों में विभाजित किया जाता है जो निम्न प्रकार है –

  • हिमालय से निकलने वाली नदियां जैसे – गंगा, यमुना, काली, शारदा, रामगंगा, सरयू, कोच्चि, कोसी( राम गंगा की सहायक) र आदि नदियों में वर्ष भर जल बना रहता है
  •  प्रदेश के मैदानी क्षेत्रों में स्थित झीलों से निकलने वाली नदियां जैसे – गोमती, वरुणा, साईं, पांडू, आदि नदियों में गर्मी में जल का कम हो जाता है लेकिन स्थिति नहीं है
  •  प्रदेश के दक्षिण में स्थित पठार होता था | विंध्याचल से निकलने वाली नदियां – जैसे सूट, रिहंद, सोन नदी, टोंस नदी,  केन नदी, चंबल ,बेतवा ,कन्हा आदि नदियों में ग्रीष्म ऋतु में जल का अभाव हो जाता है और अधिकांश भी जाती है  |

प्रमुख नदियां :- Uttar Pradesh: river systems, lakes, irrigation, ground water

गंगा :-

  • उत्तर भारत की सबसे प्रमुख,  हिंदुओं की पवित्र धार्मिक नदी है गंगा को श्री भागीरथी शुरूसरी , पदमा , देवनदी , आदि नामों से भी जाना जाता है |
  • भागीरथी उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में गंगोत्री कस्बे के समीप स्थित गंगोत्री ग्लेशियर के गोमुख नामक स्थान से निकलती है |
  • आगे बढ़ने पर इसमें – रूद्र गंगा , जा गंगा ,  सिया गंगा , आदि नदियां मिलती हैं |
  • गणेश प्रयाग में इसमें भिलंगना नदी मिलती है जिसके संगम पर टिहरी परियोजना है आगे बढ़ने पर देवप्रयाग में इसमें अलकनंदा नदी मिलती है,  जो भागीरथी की अपेक्षा अधिक  जल लाती है और भागीरथी की सहायक नदी है  |
  • अलकनंदा चमोली के उत्तरी भाग में स्थित सतोपंथ सीकर के शिखर के हिमनद और सतोपंथ ताल से निकलती है | अलकनंदा में सर्वप्रथम विष्णुप्रयाग में पश्चिम धौली गंगा , फिर क्रमशाह : नंदप्रयाग में  नंदाकिनी , कर्णप्रयाग में  पिंडार नदी , रुद्रप्रयाग में मंदाकिनी नदी और अंत में देवप्रयाग में अलकनंदा भागीरथी में विलीन हो जाती है  |और संयुक्त रूप से गंगा के नाम से आगे बढ़ती है |
  • शिवालिक श्रेणी को काटकर गंगा ऋषिकेश हरिद्वार बहते हुए फिर उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में प्रवेश करती है |
  • मैदान (हरिद्वार) में आते ही इसकी दिशा दक्षिण से दक्षिण पूर्व की ओर बदलने लगती है |
  • उत्तर प्रदेश में गंगा के बाएं ओर से रामगंगा, गोमती व घागरा   नदियां तथा दाईं ओर से यमुना,  टोंस नदी , चंद्रप्रभा, कर्मनाशा, आदि नदियां मिलती हैं
  • बंगाल तक पहुंचते-पहुंचते इसकी कुल लंबाई 2510 किलोमीटर हो जाती है
  • यह प्रदेश के – मुजफ्फरनगर, बिजनौर ,मेरठ ,अमरोहा,  बुलंदशहर, अलीगढ़, बदायूं, कासगंज ,एटा, फर्रुखाबाद, शाहजहांपुर, कन्नौज, हरदोई, उन्नाव, कानपुर देहात, कानपुर नगर ,प्रतापगढ़, रायबरेली ,फतेहपुर, कौशांबी, इलाहाबाद, भदोही, मिर्जापुर ,चंदौली ,वाराणसी ,गाजीपुर ,और राज्यों के 28 जिलों में बढ़ती हुई बिहार में प्रवेश करती है |
  • गंगा को हल्दिया से इलाहाबाद तक राष्ट्रीय जलमार्ग संख्या एक के रूप में प्रयुक्त किया जा रहा है
Uttar Pradesh Rivers , उत्तर प्रदेश नदियां
Uttar Pradesh Rivers (उत्तर प्रदेश नदियां)

गंगा एवं अन्य नदियों के मिलन स्थान (The meeting place of Ganga and other rivers)

मुख्य नदीमिलने वाली नदीस्थान
भागीरथीरूद्र गंगागंगोत्री निकट (यू.के)
भागीरथीजाड़ गंगाभैरव घाटी(यू.के)
भागीरथीअसीगंगाडोडी ताल(यू.के)
भागीरथीसियागंगाझाला(यू.के)
भागीरथीभिलंगनागणेशप्रयाग(यू.के)
भागीरथीअलकनंदादेवप्रयाग(यू.के)
गंगाराम गंगा(यू.पी)
गंगायमुनाप्रयाग(यू.पी)
गंगाटोंस नदीसिरसा के पास(यू.पी)
गंगागोमतीकैथी गाजीपुर(यू.पी)
गंगातमसाबलिया के पास(यू.पी)
The meeting place of Ganga and other rivers

यमुना :-

  • गंगा नदी की सबसे महत्वपूर्ण नदी है
  • इसका उद्गम बंदर पूंछ पश्चिमी घाट पर स्थित यमुनोत्री (उत्तरकाशी) है,  जोकि उत्तरकाशी के गर्म स्रोत से 8 किलोमीटर उत्तर स्थित है |
  • मैदान में आने से पूर्व इसमें – टोंस नदी ,गिरी तथा आसन  ,नदियां मिलती हैं
  • इस प्रदेश में इसका प्रवेश सहारनपुर के “फैजाबाद” नामक स्थान पर होता है | इसमें दाहिनी ओर से इटावा से 40 किलोमीटर दूर औरैया के मुरादगंज के पास चंबल , हमीरपुर  के पास बेतवा , जालौन के पास जगमोहन  के निकट सिंध  के निकट की नदियां तथा बाईं ओर से नोएडा के पास हिंडोन नदी मिलती है |
  • यह  चाप के आकार में प्रदेश के प्रदेश के – सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, मेरठ गाजियाबाद बुलंदशहर ,अलीगढ़, मथुरा ,आगरा, इटावा ,जालौन हमीरपुर, बांदा , फतेहपुर, और इलाहाबाद आदि 19 जिलों में बहती हुई (प्रयाग) इलाहाबाद में गंगा में मिल जाती है इसकी लंबाई 13 76 किलोमीटर है |
  • Uttar Pradesh : RIVER SYSTEMS LAKES IRRIGATIO GROUND WATER

यमुना एवं अन्य नदियों के मिलन स्थल (Yamuna and other rivers meet)

मुख्य नदीमिलने वाली नदीस्थान
यमुनाटोंसउत्तराखंड
यमुनागिरीउत्तराखंड
यमुनाआसनउत्तराखंड
यमुनासिंधजगमनपुर
यमुनाचंबलमुरादगंज
यमुनाबेतवाहमीरपुर
यमुनाकेनभुजा
यमुनाहिंडोननोएडा
यमुना एवं अन्य नदियों के मिलन स्थल (Yamuna and other rivers meet)

जरूर पढ़ें : Uttar Pradesh : RIVER SYSTEMS LAKES IRRIGATIO GROUND WATER

उत्तर प्रदेश : भौतिक संरचना एवं जलवायु

उत्तर प्रदेश : एक समग्र अध्ययन

Uttar Pradesh : RIVER SYSTEMS LAKES IRRIGATIO GROUND WATER

CodeBasin Name
1Indus (Up to border)
2aGanga
2bBrahmaputra
2bBarak and others
3Godavari
4Krishna
5Cauvery
6Subernarekha
7Brahmani and Baitarni
8Mahanadi
9Pennar
10Mahi
11Sabarmati
12Narmada
13Tapi
14West flowing rivers South of Tapi
15East flowing rivers between Mahanadi and Godavari
16East flowing rivers between Godavari and Krishna
17East flowing rivers between Krishna and Pennar
18East flowing rivers between Pennar and Cauvery
19East flowing rivers South of Cauvery
20West flowing rivers of Kutch and Saurashtra including Luni
21Minor rivers draining into Bangladesh
22Minor rivers draining into Myanmar
23Area of North Ladakh not draining into Indus
24Drainage Area of Andaman & Nicobar Islands
25Drainage Area of Lakshadweep Islands
INDIAN RIVERS

रामगंगा RIVER : -Uttar Pradesh : RIVER SYSTEMS LAKES IRRIGATIO GROUND WATER

यह पौड़ी जिले के दुधाटोली पर्वत के जलागम क्षेत्र से निकलती है | कालागढ़ किले के निकट मैदान में उतरती है |मैदानी यात्रा के 24 किलोमीटर के उपरांत कोहो नदी इसमें मिलती है | यह नदी 690 किलोमीटर करने के उपरांत कन्नौज के निकट गंगा में मिल जाती है | मुरादाबाद, बरेली ,बदायूं, सहारनपुर, शाहजहांपुर, फर्रुखाबाद ,हरदोई ,आदि जिलों से गुजरती है | इस नदी पर सिंचाई के लिए कालागढ़ में एक बांध बनाया गया है |

काली (शारदा) RAIVER :-Uttar Pradesh : RIVER SYSTEMS LAKES IRRIGATIO GROUND WATER

काली नदी उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में स्थित कालापानी नामक स्थान से तथा गौरी गंगा मिला मिलान हिम्नल से निकलती है

दोनों जैल जी भी मिलती है | टेकनपुर के बाद इसे शारदा के नाम से जाना जाता है | ब्रह्मदेव के निकट यह मैदानी भाग में प्रवेश करती है | प्रदेश में सर्वप्रथम पीलीभीत जिले में प्रवेश करती है | सीतापुर के बहरामघाट के निकट पहुंच यह करनाली (घाघरा नदी) से मिल जाती है |

घाघरा (करनाली)

भांगड़ा करनाली नदी का उद्गम तिब्बत के पठार पर स्थित मां पूछा हिमनद से होता है क्योंकि रायपुर से लगभग 35 किलोमीटर उत्तर पश्चिम की ओर स्थित है यदि पर्वतीय प्रदेशों में करनाली और मैदानी प्रदेश में घाघरा आती है मैदानी भाग में यदि दो शाखाओं में विभाजित हो जाती है और पूर्व दिशा को कहते हैं आगे चलकर एक हो जाती है नामक स्थान पर 180 मीटर चौड़ा और 600 मीटर गहरा गड्ढा बनाती है या लखीमपुर बहराइच के सीमा बनाते हुए राज्य में प्रवेश करती है सीतापुर में वासना के पास में काली नदी मिलती है आगे चलकर अयोध्या में आ जाती है देवरिया बरहज के पास में राप्ती नदी मिलती है उत्तर प्रदेश से निकल जाती है और छपरा में मिल जाती है 1080 किलोमीटर |

Must read :–
राजभाषा(Official Language)
मूल कर्तव्य (Core Duties)
महत्वपूर्ण संविधान संशोधन(Important Constitution Amendment)
Vice-President -(उपराष्ट्रपति )
भारतीय संविधान(Indian Constitution)
संविधान के स्रोत : प्रकृति एवं विशेषताएं
संविधान की प्रस्तावना(Preamble to the Constitution)
नागरिकता(Citizenship)
मूल अधिकार (Fundamental Rights)
Directive Principles of Policy (Part -4, Articles 36 – 51)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *